COVID-19: इंदौर में कोरोना का कहर, कर्फ्यू! Red Zone इंदौर में 31 मई के बाद भी जारी रहेगा

May 27, 2020

 

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस Coronavirus Epidemic) से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में मध्य प्रदेश का शामिल इंदौर (Indore) भी शामिल है हालाँकि प्रशासन ने विभिन्न लॉकडाउन के दौरान अलग-अलग क्षेत्रों में अलग अलग छूट दी है, लेकिन प्रशासन का कहना है कि महामारी के संक्रमण को रोकने के लिये खासकर शहरी सीमा में कर्फ्यू (curfew) और अन्य प्रतिबंधात्मक आदेश 31 मई के बाद भी लागू रहेंगे. कोविड-19 का प्रकोप कायम रहने के कारण इंदौर जिला रेड जोन में बना हुआ है.

 

इंदौर के कलेक्‍टर मनीष सिंह के अनुसार आमजन की जरूरतों के मद्देनज़र लॉकडाउन में लगातार छूट देते हुए विभिन्न गतिविधियां बहाल कर रहे हैं, परन्तु शहरी सीमा में 31 मई के बाद भी कर्फ्यू और अन्य प्रतिबंधात्मक आदेश लागू रहेंगे. जबकि केवल उन्हीं गतिविधियों से जुड़े लोगों को घर से बाहर निकलने की अनुमति मिलेगी जिन्हें हमने हरी झंडी दिखायी है. इसके अलावा सिंह ने यह भी बताया कि शहर के निजी दफ्तरों को अलग-अलग श्रेणियों में बांटकर 33 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ दोबारा खोलने की अनुमति दिये जाने पर विचार किया जा रहा है, लेकिन यह अनुमति धीरे-धीरे दी जायेगी.

 

कलेक्‍टर मनीष सिंह ने कहा आगे बताया कि लॉकडाउन के चलते हमें कोविड-19 के प्रकोप पर नियंत्रण पाने में काफी हद तक सफलता मिली है. लेकिन आम लोगों को आने वाले दिनों में भी इस महामारी से बचाव के पूरे उपाय अपनाने की जरूरत है, तभी जिला रेड जोन से बाहर आ सकेगा. इंदौर जिले में अब तक कोविड-19 के 3,182 मरीज मिले हैं. इनमें से 119 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गयी है. जिले में कोरोना वायरस के प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी. कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिये प्रशासन ने इंदौर की शहरी सीमा में 25 मार्च से कर्फ्यू लगा रखा है, तो जिले के अन्य स्थानों पर कुछ छूटों के साथ लॉकडाउन लागू है.

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload