क्या सांवेर से तुलसीराम को टक्कर देंगे गुड्डू? कांग्रेस में वापसी की अटकलें तेज, पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ से की मुलाकात

May 26, 2020

 

मध्य प्रदेश में आगामी समय में होने वाले 24 विधानसभा सीटों के उपचुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियों में उठा पटक तेज़ हो गई है। बीजेपी की मुश्किल 22 दल बदलुओं को सँभालने की है तो कांग्रेस की पुराने चेहरों व सिंधिया अनुयायियों के विरूद्ध सशक्त चेहरे तलाशने की है. कांग्रेस ने 24 सीटों पर जिताऊ उम्मीदवार ढूंढने शुरू कर दिए है.कांग्रेस पार्टी भी अब बीजेपी में गए उन पुराने चेहरों पर भी दांव लगाने को तैयार है जो कभी कांग्रेस का दामन छोड़ बीजेपी में चले गए थे. ऐसे ही कद्दावर नेता पूर्व विधायक व सांसद जो 2018 के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में गए थे है - प्रेमचंद गुड्डू , जो अब पुनः कांग्रेस में वापसी करते नज़र आ रहे हैं. संभावना है की इसी सम्बन्ध में प्रेमचंद गुड्डू (Premchand Guddu) ने सोमवार को पीसीसी चीफ कमलनाथ (PCC Chief Kamalnath) से मुलाकात की. सूत्रों के अनुसार मुलाकात में प्रेमचंद गुड्डू की सांवेर सीट से दावेदारी को लेकर चर्चा की गई. हालांकि पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू की वापसी को लेकर नाराज विधायकों को भी बैठक में बुलाया गया और उनसे भी प्रेमचंद गुड्डू की वापसी को लेकर मशवरा किया गया.

 

खबर यह भी है की 2018 प्रेमचंद गुड्डू के बीजेपी में जाने और पार्टी को डैमेज करने के कारण उज्जैन देवास इंदौर के कई कांग्रेस विधायक नाराज हैं, इनके इस कदम से कांग्रेस की अच्छा खासा नुक्सान भी आलोट-उज्जैन-सांवेर क्षेत्र में हुआ था. लेकिन विधायकों की नाराजगी को दूर करने के साथ ही प्रेमचंद गुड्डू को टिकट देने को लेकर सहमति बनाए जाने की कोशिश की जा रही है और इसी सिलसिले में पीसीसी चीफ कमलनाथ ने सोमवार को प्रेमचंद गुड्डू और स्थानीय विधायकों के साथ भी मशवरा किया.

 

चुनावी जमावट के हिसाब से सांवेर विधानसभा सीट पर बीजेपी की तरफ से पूर्व कांग्रेस विधायक और मौजूदा मंत्री, सिंधिया अनुयायी तुलसीराम सिलावट चुनाव लड़ेंगे. तुलसीराम सिलावट को टक्कर देने के लिए कांग्रेस को मजबूत चेहरे की जरुरत है ऐसे में कांग्रेस पार्टी को प्रेमचंद गुड्डू से अच्छा विकल्प नहीं मिल रहा है. पहले प्रेमचंद गुड्डू ज्योतिरादित्य सिंधिया और तुलसीराम सिलावट के खिलाफ खुलकर बयानबाजी कर चुके हैं. और इसी के चलते बीजेपी ने गुड्डू को नोटिस जारी किया था. जिसपर प्रेमचंद गुड्डू ने जवाब दिया की वे फरवरी महीने में ही बीजेपी से इस्तीफा दे चुके हैं.

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload